THE POWER OF RESOLUTIONS  शिल्पशाला – तेममं लिलुआ

प्रवासी एकता न्यूज़:- रोहित चौधरी 9660317316

अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल के तत्वावधान में तेरापंथ महिला मंडल लिलुआ  द्वारा THE POWER OF RESOLUTIONS का आयोजन तेरापंथ भवन मे किया गया। अध्यक्ष श्रीमती बेला पोरवाल ने सबका स्वागत किया और संकल्प शक्ति का महत्त्व बतलाया, कार्यशाला का आरंभ नमस्कार महामंत्र और प्रेरणा गीत के सामूहिक संगान से किया गया।

श्रीमती सरिता कुण्डलिया ने किसी कार्य को सफल करने की इच्छा करते हैं तो हमें अपनी इच्छाओं को संकल्प में बदलना होगा। अनुप्रेक्षा के प्रयोग संकल्प के प्रयोग हैं। संकल्प से हमारे भीतर की उथल- पुथल को हम सकरात्मकता में बदल सकते हैं। इसलिए किसी कार्य की सफलता के लिए पहले लक्ष्य का निर्धारण कर संकल्प करना चाहिए जैसे.

मुझे आवेश मुक्त बनना है, मुझे मधुर बोलना है, मुझे अपनी सोच को सकारात्मक रखना है, मुझे अहिंसात्मक जीवन जीना है, मुझे कसाय मुक्त बनना है, मुझे शक्ति सम्पन्न बनना है, मै झूठ नहीं बोलुँगी, मै नियमित व्ययाम करुँगी, मै अहंकार नहीं करुँगी, मै जंक फ़ूड्स का उपयोग कम करुँगी इत्यादि, हमें छोटे -छोटे संकल्पों से शुरुआत करनी चाहिए।

श्रीमती सुमन भूतोड़िया ने बतलाया कि हमें Resolutions क्यों करना चाहिए RESOLUTION परिवर्तन के अवसर प्रदान करता है। ये मस्तिष्क की भाषा है। ये हमारे इरादों को मजबूत बनता है। ये हमें लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रेरित करता है। श्रीमती मंजू बेंगाणी ने संकल्प करने के लिए 3D solutions के बारे में बतलाया।

Creat:- इच्छानुसार संकल्पों की लिस्ट बनाये Repeat:- सुविधानुसार दिन में अनेक बार दोहराये Achieve:- ढ़ढ़ विश्वास के साथ समर्पित होकर लक्ष्य को हासिल करें। मंत्री श्रीमती सुनीता बैद ने कार्यशाला का संचालन किया और कहा कि संकल्पों को हमें ढ़ढ़ आत्मविश्वास के साथ  नियमित दिनचर्या मे अपनाना चाहिए। संकल्पों के द्वारा असंभव से असंभव कार्य को भी संभव कर सकते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.